ईंधन क्या है ? ईंधन के प्रकार और विशेषताएं

घरेलु कार्यों और फैक्ट्रियों में ऊष्मा उत्पन्न करने के लिए ईंधन का उपयोग किया जाता है । यहां मैं आपको ईंधन के बारे में जानकारी दूंगा ।
ईंधन की परिभाषा क्या है ? आदर्श ईंधन क्या है ? ईंधन कितने प्रकार का होता है ? आदर्श ईंधन की विशेषताएं क्या है ?
ईंधन क्या है ?

ईंधन की परिभाषा क्या है ?

 
ऐसे पदार्थ जिन्हें ऑक्सीजन की उपस्तिथि में जलाने पर आसानी से जलने लगते है और अधिक मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न करते है, ईंधन कहलाते हैं ।
सभी ईंधन ज्वलनशील होते हैं ।

 

ईंधन कितने प्रकार के होते हैं ?

सामान्यतः ईंधन तीन प्रकार के होते हैं –

 

(1) ठोस ईंधन – वे ईंधन जो ठोस अवस्था में होते है, ठोस ईंधन (Solid fuel) कहलाते हैं
जैसे – लकड़ी, कोयला आदि

 

विशेषता :
● इनके दहन के पश्चात राख बच जाती है
● ये कम मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न करते हैं

 

(2) द्रवीय ईंधन – वे ईंधन जो द्रव अवस्था में होते है, द्रव ईंधन (Liquid fuel) कहलाते हैं
जैसे – डीजल, पेट्रोल, मिट्टी का तेल आदि

 


विशेषता :
● इनके दहन के पश्चात राख नही बचती
● ये अधिक मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न करते हैं

 

(3) गैसीय ईंधन – वे ईंधन जो गैसीय अवस्था में होते है, गैसीय ईंधन (Gaseous fuel) कहलाते हैं

जैसे – LPG, हाइड्रोजन आदि

विशेषता :
● इनके दहन के पश्चात राख नहीं बचती
● ये बहुत अधिक मात्रा में ऊष्मा उत्पन्न करते हैं

अन्य पोस्ट :
अनुक्रमानुपाती और व्युत्क्रमानुपाती क्या होता है ?
● सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्या है इसकी सैलरी कितनी है ?

आदर्श ईंधन किसे कहते हैं 

निम्न विशेषताओं वाला ईंधन ही आदर्श ईंधन कहलाता है –

● जो कम मात्रा में ही अधिक ऊष्मा उत्पन्न करता है
● जिसके दहन के पश्चात किसी प्रकार का अपशिष्ट नहीं बचता
● दहन के समय किसी प्रकार की जहरीली गैस या धुआं उत्पन्न नहीं होता
● सस्ता व आसानी से उपलब्ध होता है

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ।

Leave a Comment