सोल्डरिंग आयरन क्या है? यह कैसे काम करता है?

किसी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को खोलते वक़्त या फिर उसकी मरम्मत करते वक़्त आपने देखा होगा कि उसमे एक प्लास्टिक का हरे रंग का बोर्ड होता है जिसमें विभिन्न प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक युक्तियाँ स्थायी रूप से जुडी होती हैं।

क्या आप जानते हैं कि इन सभी छोटी-छोटी युक्तियों को कैसे जोड़ा गया होगा। तो मैं आपको बता दूँ की इन सभी युक्तियों को सोल्डरिंग की विधि द्वार जोड़ा जाता है। सोल्डरिंग क्या है और यह कितने प्रकार की होती है इसके बारे में मैं आपको पहले ही जानकारी दे चूका हूँ। यहां इस पोस्ट में मैं आपको सोल्डरिंग आयरन उपकरण के बारे में जानकारी देने वाला हूँ।

सोल्डरिंग आयरन

यह एक विद्युत उपकरण होता है जिसका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में नर्म सोल्डरिंग करने के लिए किया जाता है।

सोल्डरिंग आयरन

सोल्डरिंग आयरन में हीटिंग एलीमेंट होता है जिसकी मदद से फिलर धातु को पिघलाया जाता है। इसमें पकड़ने के लिए एक ऊष्मा रोधी हैंडल लगा होता है। सोल्डरिंग आयरन का बिट तांबे का बना होता है जिसपर धातु का आवरण होता है।

सोल्डरिंग आयरन कैसे काम करता है?

जब सोल्डरिंग आयरन को विद्युत सप्लाई प्रदान की जाती है तो इसकी बिट गर्म होने लगती है। जब इसका बिट सोल्डरिंग के लिए पर्याप्त गर्म हो जाता है तो इसकी मदद से फिलर धातु अर्थात सोल्डर को जोड़ पर (जहाँ सोल्डरिंग करनी है वहां पर) पिघला कर उसे जोड़ पर भर दिया जाता है।

पिघला हुआ सोल्डर कुछ ही सेकेंड में कठोर हो जाता है जिससे जोड़ भी पक्का हो जाता है।

फ्लक्स क्या होता है?

यह एक पेस्ट के रूप में होता है। फ्लक्स एक अच्छा सोल्डरिंग जोड़ बनाने में सहायक होता है। इसे जोड़ करने से पहले धातु की सतह पर लगाया जाता है जिससे यह धातु की सतह से ऑक्साइड की परत को हटाता है और सोल्डरिंग करते समय दोबारा ऑक्साइड परत को बनने से रोकता है।

सुरक्षा और सावधानियां

  • सोल्डरिंग करते समय सोडरिंग आयरन के बिट या धात्विक भाग को स्पर्श नहीं करना चाहिए क्योंकि यह बहुत गर्म होता है और इससे आपको क्षति पहुँच सकती है।
  • सोल्डरिंग आयरन को जरूरत के अनुसार ही गर्म करना चाहिए और अगर यह बहुत अधिक गर्म हो जाये तो विद्युत सप्लाई को ऑफ कर देना चाहिए।
  • सोल्डरिंग आयरन को हमेशा इसके स्टेण्ड में रखना चाहिए। ऐसे ही कहीं भी नहीं छोड़ना चाहिए।
  • सोल्डरिंग पूर्ण होने के पश्चात् सोल्डरिंग आयरन की सप्लाई को ऑफ कर देना चाहिए।
  • सोल्डरिंग करने से पूर्व सोल्डरिंग आयरन के बिट को खुरचकर साफ कर लेना चाहिए।
  • जोड़ करने से पूर्व जोड़ वाले स्थान को साफ कर देना चाहिए।
  • जोड़ पर उतना ही सोल्डर भरें जितना जरूरी हो, जरूरत से ज्यादा सोल्डर न भरें।
  • सोल्डरिंग के बाद अपने हाथों को अच्छे से धो लें।
  • गर्म सोल्डरिंग आयरन को किसी अन्य वस्तु से दूर रखें।

सोल्डरिंग से जुड़े साधारण प्रश्न:

सोल्डरिंग क्या है?

दो या दो से अधिक धातु टुकड़ों या तारों को पिघले हुए सोल्डर द्वारा एक-दूसरे से जोड़ने की विधि

सोल्डर क्या है?

यह तीन और सीसा से बनी मिश्र धातु होती है, जिसके द्वारा दो धातु टुकड़ों को आपस में जोड़ा जाता है

सोल्डरिंग वायर का आम नाम क्या है?

यह सोल्डर होता है। इसे आम रूप से रांगा कहते हैं।

सोल्डरिंग वायर

सोल्डरिंग पेस्ट को क्या कहते हैं?

यह फ्लक्स होता है। यह धातु की सतह से ऑक्साइड की परत हटाता है।

सोल्डरिंग पेस्ट

अगर जानकारी पसंद आये तो पोस्ट शेयर जरूर करें।

Leave a Comment