अनुप्रस्थ और अनुदैर्ध्य तरंग में अंतर

तरंग यानी लहर के बारे में तो आपने सुना ही होगा यहां मैं आपको अनुप्रस्थ और अनुदैर्ध्य तरंग के बारे में बताने वाला हूं कि अनुप्रस्थ और अनुदैर्ध्य तरंगों के बीच क्या अंतर है ( longitudinal and transverse waves in hindi )

anuprasth aur anudharya tarang mein antar

अनुप्रस्थ तरंग की परिभाषा

जब माध्यम के कण, तरंग के संचरण की दिशा के लम्बवत कंपन करे तो उसे अनुप्रस्थ तरंग कहते है।

उदाहरण –  पानी में बनने वाली लहर

अनुदैर्ध्य तरंग की परिभाषा

जब माध्यम के कण, तरंग के संचरण की दिशा के समांतर कंपन करे तो उसे अनुदैर्ध्य तरंग कहते है।

उदाहरण – ध्वनि की तरंग

अनुप्रस्थ और अनुदैर्ध्य तरंगों में अंतर

  • अनुप्रस्थ तरंग केवल दृढ़ माध्यमों में ही उत्पन्न हो सकती है। जबकि अनुदैर्ध्य तरंग ठोस, द्रव, गैस तीनों माध्यमों में उत्पन्न हो सकती है।
  • अनुप्रस्थ तरंग में माध्यम के कण, तरंग के संचरण की दिशा के लम्बवत गति करते हैं जबकि अनुदैर्ध्य तरंग में माध्यम के कण, तरंग के संचरण की दिशा के समांतर गति करते हैं।
  • अनुप्रस्थ तरंग में श्रृंग और गर्त होते हैं और अनुदैर्ध्य तरंग में संपीडन और विरलन होता है।

इन्हें भी पढ़े:

Leave a Comment