अन्योन्य प्रेरण सिद्धांत क्या है | परिभाषा | गुणांक

विद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव से जुड़े कई तरह के नियम और सिद्धांत होते है जैसे – फैराडे के नियम, लैंज के नियम आदि ।


यहाँ में आपको अन्योन्य प्रेरण के बारे में जानकारी दूंगा की अन्योन्य प्रेरण क्या है ? अन्योन्य प्रेरण की परिभाषा और गुणांक ( mutual inductance in hindi )

अन्योन्य प्रेरण

 

 

अन्योन्य प्रेरण क्या है

जब किसी कुंडली में प्रत्यावर्ती विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो कुंडली के चारों ओर एक चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न हो जाता है

इस कुंडली के पास चुम्बकीय क्षेत्र में स्थित किसी अन्य कुंडली में से होकर गुजरने वाली चुम्बकीय बल रेखाओं की संख्या में जब परिवर्तन होता है तो उस कुंडली में भी विद्युत वाहक बल उत्पन्न हो जाता है, इसे ही अन्योन्य प्रेरण कहते है

अन्योन्य प्रेरण के सिद्धांत का उपयोग ट्रांसफॉर्मर में किया जाता है

अन्योन्य प्रेरण का गुणांक 

द्वितीयक में चुम्बकीय फ्लस्क ∝ प्राथमिक कुंडली में प्रवाहित धारा 

Leave a Comment