पॉलिटेक्निक के बाद क्या करें | Jobs and Salary after Polytechnic

Polytechnic Diploma क्या है? इसके बारे में मैं आपको पहली ही जानकारी दे चुका हूँ और पॉलिटेक्निक की सभी ट्रेड की लिस्ट भी बता चुका हूँ। यहां मैं आपको पॉलिटेक्निक के बाद करियर में आगे क्या-क्या कर सकते हैं? इसके बारे में जानकारी दूंगा।

पॉलिटेक्निक के बाद क्या करे?

पॉलिटेक्निक एक डिप्लोमा कोर्स है इसमें कई प्रकार की ट्रेड होती हैं जैसे: Electrical, Electronics, Mechanical, Civil आदि। जिनमे से आप अपनी पसंद अनुसार किसी भी ट्रेड में प्रवेश ले सकते हैं। जब पॉलिटेक्निक में आपका प्रशिक्षण पूर्ण हो जाता है तो आपको पास करियर में आगे बढ़ने के कई सारे रास्ते खुल जाते हैं। यहां मैं आपको तीन मुख्य करियर विकल्पों के बारे में जानकारी देने वाला हूँ:

पॉलिटेक्निक करने के बाद नौकरी

सबसे पहले हम नौकरी के बारे में बात करते है क्योंकि यह सबसे ज्यादा प्रचलित विषय है। तो दोस्तों, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा में अध्ययन पूरा करने करने के बाद आप किसी भी सरकारी या गैर-सरकारी कम्पनी में डिप्लोमा इंजीनियर के पद के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

सरकारी नौकरी: भारतीय रेलवे में प्रत्येक 1-2 साल में जूनियर इंजीनियर के पदों के लिए भर्ती निकलती है जिसमे डिप्लोमा धारकों के आवेदन मांगे जाते है। वर्तमान में एक रेलवे जूनियर इंजीनियर की सैलरी लगभग 35,000 रूपये से शुरू होती हैं।

NTPC (नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन) भी इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और माइनिंग के क्षेत्र में डिप्लोमा इंजीनियर पदों के लिए भर्ती निकालती है जिसकी सैलरी लगभग 24,000 रूपये से शुरू होती है।

इसके अलावा BHEL, BSNL, GAIL जैसे विभिन्न कंपनियों में डिप्लोमा इंजीनियर के पदों पर भर्ती निकलती रहती है।

प्राइवेट नौकरी: हमारे देश में कई ऐसे प्राइवेट सेक्टर भी हैं जिनमें आप डिप्लोमा इंजीनियर से जुड़े पदों पर रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। टाटा मोटर्स, टाटा स्टील, रिलाइंस कम्युनिकेशन, एचसीएल जैसी कई बड़ी कंपनियां हैं जिनमे आप रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।

पॉलिटेक्निक करने के बाद पढ़ाई

अगर आपने कम उम्र में ही पॉलिटेक्निक पूरा कर लिया है और फ़िलहाल आपका नौकरी करने का कोई इरादा नहीं है तो आप आगे अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं। पॉलिटेक्निक करने के बाद आप B.tech कर सकते है और अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपको लेटरल एंट्री के तहत सीधे ही B.tech के 2nd ईयर में प्रवेश मिलेगा। जिससे 4 साल का यह डिग्री कोर्स आपके लिए मात्र 3 साल का रह जायेगा। और जब आप B.tech में अध्ययन पूरा कर लेंगे तो आपके पास इंजीनियरिंग में डिप्लोमा और डिग्री दोनों होंगे जिसका फायदा आपको नौकरी में मिलेगा।

उद्यमिता

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स में छात्रों को उनके ट्रेड से सम्बंधित विषयों की विस्तृत जानकारी और प्रशिक्षण दिया जाता है इसके अलावा छात्रों को उद्यमिता के बारे में भी काफी जानकारी दी जाती है जिसका उद्येश्य यही होता है कि छात्र स्व-रोजगार स्थापित कर सके और आपने साथ-साथ अन्य लोगों को भी रोजगार दे सकें।

सरकार युवाओं को उद्यमिता एवं स्व-रोजगार के लिए प्रोत्साहित करने और उनकी आर्थिक मदद करने के उद्येश्य से विभिन्न प्रकार की योजनाएं और कैंपेन चलाती है जिनके जरिये युवा, सरकार से ऋण लेकर अपने उद्योग या स्वरोजगार की स्थापना कर सकते हैं।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर पोस्ट पसंद आये तो इसे अपने दोस्तों से शेयर अवश्य करें।

 

Leave a Comment