दोलित्र क्या है ? इसके प्रकार ( Oscillator in hindi )


आजकल इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की डिमांड बहुत बड़ रही है क्योंकि ये बहुत उपयोगी है ।
इलेक्ट्रॉनिक परिपथों में कई तरह की युक्ति प्रयोग की जाती है जैसे डायोड, ट्रांजिस्टर, दोलित्र, प्रवर्धक, आईसी आदि ।
यहां मैं आपको दोलित्र के बारे में बताने वाला हूं कि दोलित्र क्या है ?
 
What is oscillator in hindi

 

 

दोलित्र (oscillator) क्या है ?

इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के संचालन के लिए उच्च आवर्ती की जरूरत होती है जो अल्टरनेटर द्वारा उत्पन्न नहीं की जा सकती है ।
इसलिए उच्च मान की आवर्ती पैदा करने मे जो युक्ति कार्य करती है उसे दोलित्र कहते हैं ।
दोलित्र परिपथ में विभिन्न प्रकार के संधारित्र, प्रतिरोध, ट्रांजिस्टर, आई.सी. आदि उपयोग किये जाते हैं ।
दोलित्र परिपथ डीसी विद्युत को उच्च आवर्ती की एसी विद्युत में बदल देता है ।

 

 

दोलित्र कितने प्रकार के होते हैं ?

● वेन ब्रिज दोलित्र
● हार्टले दोलित्र
● फेज शिफ्ट दोलित्र
● काॅलपिट दोलित्र
● रिंग दोलित्र
इसके अलावा दोलित्र और भी प्रकार के होते हैं ।

Leave a Comment